Basic Shiksha Vibhag ( बेसिक शिक्षा विभाग )

नए शैक्षणिक सत्र में नई बिल्डिंग में पढ़ाई करेंगे बच्चे, 3,450 जर्जर स्कूलों के नए भवन बनने का रास्ता साफ

नए शैक्षणिक सत्र में नई बिल्डिंग में पढ़ाई करेंगे बच्चे, 3,450 जर्जर स्कूलों के नए भवन बनने का रास्ता साफ

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

https://chat.whatsapp.com/JuNdpJMBJ6IBczBMgL9PAp

Newly Smc members data feeding on prerna portal || प्रेरणा पोर्टल पर विद्यालय प्रबंध समिति का डाटा||

🥎🥎 *प्रेरणा डी बी टी एप पर स्टूडेंट्स का ड्रेस फ़ोटो अपलोड करने का तरीका देखें*

 *|| Prerna Dbt App Student Dress Photo Upload Process || प्रेरणा डीबीटी ऐप फ़ोटो अपलोड ||*

🥎🥎 *गतिविधियों पर आधारित शिक्षण विज्ञान चालीसा*

नए शैक्षणिक सत्र में यूपी के बच्चे नई बिल्डिंग में पढ़ाई करेंगे। राज्य में 3,450 पुराने और जर्जर स्कूलों के नए भवन बनने का रास्ता साफ हो गया है। जिलों को करीब 555 करोड़ रुपये की पहली किश्त भी जारी कर दी गई है।

NEW BUILDING OF SCHOOL

महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। आदेश के मुताबिक 28 फरवरी, 2023 तक भवनों का निर्माण पूरा किया जाना है।

ये वे स्कूल हैं, जिनके भवन जर्जर हो गए थे और इनकी मरम्मत की जगह इन्हें गिराकर दोबारा बनाने की जरूरत थी। लंबे समय से इस पर काम चल रहा था। पुराने जर्जर भवनों को गिरा कर नीलामी की गई। अब इसी जमीन पर नए भवनों को बनाया जाएगा। पिछले महीने इसके लिए दिशा-निर्देश के साथ ही कार्यदायी संस्था के साथ अनुबंध करने के निर्देश जारी किए गए थे। दरअसल, इसकी नीलामी और फिर जमीन को लेकर विवाद हुआ था, जिस कारण इनमें देरी हुई।

इनमें 2804 प्राइमरी स्कूलों और 464 जूनियर स्कूलों के भवन बनाए जाने हैं। प्राइमरी स्कूलों के लिए 15.14 लाख रुपये और जूनियर स्कूलों के लिए 28.22 लाख रुपये जारी किया गया है। सबसे ज्यादा 220 स्कूलों के भवन गोंडा में बनाए जाने हैं। वहीं बहराइच, बलिया, प्रतापगढ़, मुजफ्फरनगर, रायबरेली में 100 से ज्यादा स्कूल बनने हैं। प्राइमरी स्कूल में दो कमरे, जूनियर स्कूल में चार कमरे समेत एक ऑफिस, बरामदा और एक रैंप बनाया जाएगा। ये सभी भूकंपरोधी तकनीक से बनाया जाएगा।

Back to top button
%d bloggers like this: