Basic Shiksha Vibhag ( बेसिक शिक्षा विभाग )

content classroom माध्यमिक शिक्षा के क्लास रूप कंटेंट को बेहतर बनाने की रणनीति

माध्यमिक शिक्षा के क्लास रूप कंटेंट को बेहतर बनाने की रणनीति

शिक्षा विभाग समाचार एवं शैक्षिक निर्देशों से संबंधित एप्लीकेशन को डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें/

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करने के लिए यहां क्लिक करें /

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

समग्र शिक्षा (माध्यमिक) उत्तर प्रदेश और एजुकेट गर्ल्स संस्था की ओर से स्वयंसेवी संस्थाओं की एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। गोमती नगर स्थित स्थानीय होटल में हुई कार्यशाला में 19 स्वयंसेवी संस्थाओं एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

कार्यशाला राज्य परियोजना निदेशक समग्र शिक्षा (माध्यमिक) डॉ रूपेश कुमार ने कहा कि समग्र शिक्षा (माध्यमिक) द्वारा 21 संस्थाओं के साथ नॉन-फाइनेंशियल अनुबंध किया गया है। जो विभिन्न शैक्षिक क्षेत्रों जैसे- बालिका शिक्षा, व्यावसायिक शिक्षा, करियर गाइडेन्स, जीवन कौशल, डिजिटल शिक्षा आदि पर कार्य कर रहे हैं। उन्होंने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में शिक्षा के नए आयाम जैसे- व्यावसायिक शिक्षा, डिजिटल शिक्षा, ए.आई. आदि पर विभिन्न संस्थाओं द्वारा किए जा रहे कार्यों को सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों के साथ जोड़े जाने पर बल दिया। महानिदेशक, स्कूल शिक्षा उत्तर प्रदेश विजय किरन आनंद ने स्वयं सेवी संस्थाओं से माध्यमिक शिक्षा में क्लासरूम कंटेन्ट, शिक्षकों का क्षमता संवर्धन एवं सीएसआर भागीदारी के लिए सहयोग करने की अपील की। उन्होंने विज्ञान, गणित एवं अंग्रेजी, कोडिंग, व्यापार प्रबंधन की विषयवस्तु पर कार्य करने की अपेक्षा की और उत्तर प्रदेश में ऐसी विषयवस्तु तैयार की जाए जो सम्पूर्ण देश में सबसे अच्छी हो । उप शिक्षा निदेशक व्यवसायिक शिक्षा प्रेमचंद्र यादव ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 की राष्ट्रीय पाठ्यचर्या के अनुसार व्यवसायिक शिक्षा के उद्देश्य एवं चुनौतियों पर विस्तार से चर्चा की।

Leave a Reply

Back to top button
%d